Narendra Modi

कांगड़ा: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि कांग्रेस ने हिमाचल प्रदेश में अपनी हार मान ली है , इसलिए उसके वरिष्ठ नेता राज्य में चुनाव प्रचार से दूर हट गये हैं और मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह को उनकी तकदीर के हवाले छोड़ दिया गया है। राज्य के सबसे बड़े जिले कांगड़ा में रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने भ्रष्टाचार को लेकर कांग्रेस पर तीखा प्रहार किया और उसकी तुलना दीमक से की। उन्होंने लोगों से नौ नवंबर को रहे रहे विधानसभा चुनाव में भाजपा को दो तिहाई वोट देकर कांग्रेस को मिटा देने का आह्वान किया।

नोटबंदी की पहली वर्षगांठ को ‘काला दिवस’ के रुप में मनाने के कांग्रेस के फैसले पर प्रधानमंत्री ने कहा कि विपक्षी पार्टी कालाधन दिवस मनायेगी और उनका पुतला फूंकेगी क्योंकि वह भ्रष्टाचार के खिलाफ उनके संघर्ष से नाराज है। मोदी ने कहा कि गरीब और मध्य वर्ग काम पर लौट गये हैं लेकिन बेईमान लोग उनसे नाराज हैं, वे उनसे बदला लेना चाहते हैं क्योंकि उन्होंने उन्हें बैग का सारा नकद बैंक में जमा करने के लिए विवश कर दिया।

भाजपा के पक्ष में प्रचंड जनादेश देने की मांग करते हुए उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश ने तब काफी तरक्की की जब प्रेम कुमार धूमल राज्य के मुख्यमंत्री थे और अटल बिहारी वाजपेयी प्रधानमंत्री क्योंकि केंद्र सरकार ने खूब पैसा दिया और धूमल ने राज्य के विकास में उसका प्रभावी तरीके से उपयोग किया। मोदी ने कहा कि वह और पार्टी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार धूमल राज्य को विकास की नयी ऊंचाइयों तक ले जायेंगे और इसके लिए राज्य के बुनियादी ढांचे और पर्यटन क्षेत्र को नयी रफ्तार की जरुरत है।

कोई जवाब दें