fake monks

जयपुर। आसाराम और गुरमीत राम रहीम के बाद देश में इन दिनों धर्म के नाम पर लोगों की आस्था के साथ खिलवाड़ करने को लेकर नए-नए खुलासे हो रही है । अब एक नया खुलासा राजस्थान के सीमावर्ती जिले बाड़मेर में हुआ है। यहां पुलिस ने भगवा वस्त्र धारण कर लोगों को ठगने वाले एक ऐसे बाबाओं के गिरोह का खुलासा किया है, जो अपने स्वयं को उदासीन अखाड़े का नागा साधू बताते हुए लोगों ठगता था। पुलिस के अनुसार का मुखिया चरणदास उर्फ चरण सिंह राजस्थान के ही भरतपुर जिले का रहने वाला है, उसके गिरोह में 20 ऐसे लोग शामिल है जो साधु बनकर प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में घूम रहे थे। बाड़मेर जिले के पचपदरा पुलिस थाना प्रभारी देवेन्द्र कविया ने बताया कि पुलिस को मुखबीर से सूचना मिली थी कि कुछ लोग साधु वेश में घूम कर लोगों को जादू-टोना के नाम पर मूर्ख बना रहे है। इसके बाद उन पर निगरानी रखना शुरू किया गया और बुधवार देर शाम इस गिरोह में शामिल कथित बाबाओं को गिरफ्तार किया गया।

उन्होंने बताया कि सख्ती से पूछताछ में इनके गोरख धंधे सामने आए। पूछताछ में गिरोह के मुखिया चरणदास सिंह ने कबूला की वे केमिकल के प्रयोग से कुछ चमत्कार दिखाकर लोगों को आर्किषत करने के साथ ही उनसे मोटी रकम वसूलते थे। पुलिस ने चरण ओर उसके चार साथियों के सामान की तलाशी ली तो उसका दूसरा रूप सामने आया। उनके बैग में यौन उत्तेजक दवाईयां,अश्लील साहित्य,शराब की बोतलें बरामद की गई। चरण सिंह के मोबाइल ब्राउजर में पोर्न फिल्मों की र्सिचंग होने की बात सामने आई। एक वीडियो में चरण को नग्न अवस्था में डांस करते हुए दिखाया गया है। कुछ विड़यिो ऐसे मिले जिनमें पुलिस की वर्दी में कई लोगों को चरण सिंह के पैर छूकर आर्शीवाद लेते हुए दिखाया गया। पूछताछ में चरण सिंह ने बताया कि उसके गिरोह में 20 लोग शामिल है, वह अपने साथ तो चार से पांच लोगों को रखता है, शेष विभिन्न क्षेत्रों में घूमते रहते हैं। चरण सिंह ने बताया कि वह कई महिलाओं को झांसा देकर अपने जाल में फंसा चुका है। पुलिस ने चरण सिंह के साथ आधा दर्जन अन्य फर्जी साधुओं को गिरफ्तार किया,शेष की तलाश की जा रही है।

कोई जवाब दें