Election commison on EVM machine Hack
EVM hack, : Election Commission

नई दिल्ली। ईवीएम हैक करने को लेकर छिड़े विवाद के बाद आखिरकार चुनाव आयोग ने अब राजनीतिक दलों को इस मामले में खुली चुनौती दे दी है। चुनाव आयोग ने स्पष्ट रुप से कहा कि वे 3 जून को ईवीएम को हैक करके दिखाएं। इसके लिए बकायदा प्रत्येक राजनीतिक दल को 4 घंटे का समय दिया जाएगा। शनिवार को मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी ने एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान उन सभी राष्ट्रीय व राज्य स्तर के राजनीतिक दलों को चुनौती दी, जिन्होंने हाल ही 5 राज्यों के विधानसभा चुनावों में भाग लिया था। जैदी ने कहा कि राजनीतिक दल 3 जून को आए व ईवीएम को हैक करके दिखाएं, प्रत्येक राजनीतिक दल को 4 घंटे का समय दिया जाएगा। बता दें हाल ही पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों के बाद जो परिणाम सामने आए उसको लेकर बहुजन समाजवादी पार्टी, आम आदमी पार्टी सहित अन्य दलों ने ईवीएम से छेड़छाड़ को लेकर आरोप लगाए थे। मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी ने कहा कि अब राजनीतिक दल यह साबित करके दिखाएं कि 5 राज्यों में इस्तेमाल हुई ईवीएम के साथ मतदान से पहले व बाद में छेड़छाड़ हुई। जैदी ने कहा कि ईवीएम के साथ छेड़छाड़ किसी दशा में संभव नहीं न ही आयोग की किसी भी राजनीतिक दल के साथ नजदीकियां है। ईवीएम हमारे ही देश में बनती है। इसका निर्माण भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लि. व इलेक्ट्रॉनिक्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया करता है। आधुनिक तकनीक से निर्मित इन मशीनों का डेटा ट्रांसफर नहीं हो सकता। वर्ष 2019 के आम चुनावों में भारत अकेला ऐसा पहला देश होगा जो इन चुनावों में वीवीपैट उपलब्ध कराएगा।

-जनप्रहरी की ताजातरीन खबरों के लिए लाइक करें।

कोई जवाब दें