Arrested

कोटा. उसने खुद को एसीबी का अधिकारी बताया, स्कूलों पर छापामारी की, प्रधानाचार्यों और शिक्षकों को परेशान किया और पूरे विश्वास के साथ रूआब दिखाते हुए मीडिया की आंखों में भी धूल झौंकने में कामयाब रहा। पुलिस ने बताया कि लड़के ने 23 वर्षीय एक लड़की को प्रभावित करने के लिएयह सारा नाटक किया, लेकिन इसका अंजाम उसके जेल की सलाखों के पीछे पहुंचने के साथ हुआ। खुद को एसीबी का अधिकारी बताने वाला यह लड़का अंतत: एसीबी के हाथों ही धरा गया। उन्होंने बताया कि सी थिकरिया को कोटा के एसीबी अधिकारियों ने सोमवार को गिरफ्तार किया और उसे केथून थाना पुलिस को सौंप दिया गया।

मामले के जांच अधिकारी एएसआई रामपाल ने बताया कि प्रारंभिक जांच में खुलासा हुआ है कि आरोपी बीटेक डिग्री धारी है और पिछले महीने वह कोटा में एक सामुदायिक कार्यक्रम में गया था जहां उसकी मुलाकात अपने ही समुदाय की एक लड़की से हुई। लड़की को प्रभावित करने के लिए उसने खुद को एसीबी अधिकारी बताया। इस हैसियत से उसने सरकारी स्कूलों में छापामारी की और मीडिया के लिए बयान भी जारी किए।
एक अखबार में थिकरिया के हवाले से सरकारी स्कूलों में अनियमितता से जुड़ी खबर प्रकाशित होने के बाद एसीबी हरकत में आई और इस नकली अधिकारी को धर दबोचा।

कोई जवाब दें