gaurav yatra bjp, Vasundhara Raje
gaurav yatra bjp, Vasundhara Raje

रामगढ़/तिजारा/जयपुर। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा है कि हमारी एक करोड़ बहनों को हम भामाशाह डिजिटल योजना के तहत स्मार्ट फोन दे रहे हैं। इससे कांग्रेस में खलबली मची हुई है। हम महिलाओं को सशक्त करना चाहते हैं उन्हें मोबाइल के माध्यम से सरकारी योजना की जानकारी देना चाहते हैं। देश-दुनिया से जोड़ना चाहते हैं और ये उसका विरोध कर रहे हैं। इस योजना में महिलाएं किसी भी कम्पनी का फोन लेने को स्वतंत्र हैं। इसके बावजूद कांग्रेस का विरोध।

राजे ने कहा कि भामाशाह योजना देश की ऐसी पहली योजना है जिसमें महिला को परिवार का मुखिया बनाया गया है। यह योजना भ्रष्टाचार को रोकने में शत-प्रतिशत कारगर साबित हुई है। इस योजना को कांग्रेस बंद करना चाहती है। कहती है हम सरकार में आये तो भामाशाह कार्ड फाड़ देंगे, उसके टुकडे़-टुकडे़ कर देंगे ताकि उनकी सरकार बनने पर वे भ्रष्टाचार कर सके और महिलाओं को आगे आने से रोक सके। लेकिन कांग्रेस का ये सपना पूरा नहीं होगा। क्योंकि न कांग्रेस आयेगी और न ही भामाशाह योजना बंद होगी।
राजे अलवर जिले के रामगढ़ तथा तिजारा में आयोजित जनसभाओं में बोल रही थीं। उन्होंने कहा कि गौरव यात्रा को मिल रहे अपार समर्थन से कांग्रेस बौखला गई है। इसलिए वह हमारी इस यात्रा को रोकने का प्रयास कर रही है। पर कांग्रेस के मंसूबे कभी कामयाब नहीं होंगे।

-साढे चार साल गायब अचानक दिखे
मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने किसानों, महिलाओं और किसी भी वर्ग के लिए विधानसभा में एक शब्द नहीं बोला। आज जब चुनाव आ रहे हैं तो अचानक निकलकर बाहर आये और अचानक जनता के हितैषी बनने का स्वांग करने लगे। यदि ये 50 साल के अपनी पार्टी के शासन में सभी लोगों का उत्थान करते तो आज यह स्थिति नहीं होती। हमने इन पांच सालों में वो कर दिखाया जो कांग्रेस 50 साल में नहीं कर पाई। हमने 50 हजार रूपए तक का किसानों का कर्जा माफ किया, इन्होंने सिर्फ बातें की। पेट्रोल-डीजल के दाम कम करने की मांग करने वाली कांग्रेस बताये कि उसने पेट्रोल-डीजल के दाम इतने कम किये क्या। हमने 4 प्रतिशत वेट कम कर ढ़ाई रूपये प्रति लीटर पेट्रोल-डीजल में कम किये।
हम जन्म से लेकर वृद्धावस्था तक बहनों के साथ

राजे ने कहा कि उनकी सरकार ने महिलाओं के लिए जन्म से लेकर वृद्धावस्था तक ऐसी योजनाएं बनाई है जिससे उन्हें किसी के सामने हाथ फैलाने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि राजश्री योजना में बेटी को लक्ष्मी का रूप मानकर जन्म से लेकर लगातार सरकारी स्कूल में 12वीं कक्षा पास करने तक उसे 50 हजार रूपये हमारी सरकार देती है। इसके अलावा साईकिल, स्कूटी, लेपटाॅप, छात्रवृत्ति, स्कूल दूर तो आने-जाने के लिए वाउचर, श्रमिक कार्डधारी है तो विवाह के लिए 55 हजार रूपये देकर महिला को सशक्त किया जा रहा है। महिला परित्यक्ता, विधवा, दिव्यांग और वृद्धा है तो उसे पेंषन दी जा रही है। पालनहार योजना में बच्चों को पालने के लिए 1 हजार रूपये तक प्रति बच्चा हर माह दिये जा रहे हैं।

-बच्चियों के साथ ज्यादती करने वालों को फांसी
मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाओं को घर का मुखिया बनाने के लिए हमने भामाशाह योजना शुरू की। हमारी बेटियों की तरफ कोई आंख उठाकर न देखे इसलिए हमने 12 साल से कम उम्र की बच्ची से दुष्कर्म करने पर फांसी की सजा का कानून बनाया। अब तक 3 आरोपियों को यह सजा सुना दी गई है। जबकि कांग्रेस के समय में निर्भया जैसे बडे़-बडे़ प्रकरण हो गये कांग्रेस ने कुछ नहीं किया। यहां तक कि उस समय प्रधानमंत्री रहते हुए न तो मनमोहन सिंह बोले और कांग्रेस अध्यक्ष रहते हुए न सोनिया गांधी बोलीं।
राजे ने कहा कि हमने किसानों की बिजली के दाम नहीं बढ़ाए। घरेलू बिजली पूरे प्रदेश में 20 घंटे दी जा रही है। 500 रूपये में घरेलू कनेक्शन दिये जा रहे हैं। मार्च 2019 तक प्रदेश में ऐसा कोई घर नहीं बचेगा जहां बिजली से उजाला न होगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि अलवर जिले के लोगों की ईआरसीपी से प्यास बुझाई जायेगी। इसके लिए 37 हजार करोड़ की योजना तैयार कर ली गई है। इस योजना के अमल में आ जाने पर अलवर सहित 13 जिलों में पेयजल एवं सिंचाई की सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। राजे ने कहा कि गत 7 जुलाई को प्रधानमंत्री जी जयपुर आये थे तब उन्होंने इस योजना को लेकर उनसे आग्रह किया था। मैं धन्यवाद देती हूं माननीय प्रधानमंत्री जी को जिन्होंने इस योजना के लिए हमें आश्वस्त किया। सेंट्रल वाटर कमिशन ने भी इस योजना को अप्रुवल दे दी है।

रामगढ़ एवं तिजारा की सभाओं में खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री बाबूलाल वर्मा,रामगढ़ विधायक ज्ञानदेव आहूजा, तिजारा विधायक मामन सिंह यादव, कठूमर विधायक मंगलाराम, राजस्थान युवा बोर्ड के उपाध्यक्ष संदीप यादव, भिवाड़ी नगर परिषद सभापति संदीप दायमा सहित जनप्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में आमजन उपस्थित थे।

कोई जवाब दें