नई दिल्ली। वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम में अपनी एक अलग पहचान रखने वाले स्टॉर क्रिकेट व आलराउंडर आंद्रे रसेल अब एक साल तक क्रिकेट नहीं खेल पाएंगे। ऐसी स्थिति किंग्स्टन के एंटी-डोपिंग पैनल के आदेश से आया है। जिसमें उन्हें 31 जनवरी 2017 से जनवरी 2018 तक क्रिकेट खेलने से रोक दिया है। गौरतलब है कि रसेल पर यह बैन इस लगाया कि उन्होंने वर्ष 2015 में तीन मर्तबा अपनी मौजूदगी की जगह को विषय में नहीं बताया था। इस मामले में वल्र्ड एंटी डोपिंग एजेंसी (वाडा) ने सख्त नियम बना रखा है। जिसके तहत जब काई एथलीट स्थानीय एंटी डोपिंग एजेंसी को अपनी मौजूदगी के बारे में नहीं बताता है तो उसे डोपिंग टेस्ट में फैल होना मान लिया जाता है। यद्दपि अब रसल इस मामले में आगे अपील करेंगे। पैनल के इस फैसले के बाद अब रसेल पर सालभर तक क्रिकेट की दुनिया से बाहर होने का खतरा मंडरा गया है। हाल ही इंडियन प्रीमियर लीग के 10वें सीजन की नीलामी से रसेल बाहर हो सकते हैं तो आईपीएल में भी कैरिबीयाई खिलाड़ी रसेल कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम से जुड़े हैं। जिस पर भी खतरे की घंटी मंडरा रही है।

कोई जवाब दें