लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शनिवार को किया गया रोड शो विवादों की चपेट में आ गया। इस मामले में प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस ने चुनाव आयोग से शिकायत की तो मामला तूल पकड़ गया। बाद में केबिनेट मंत्री को सामने आकर यह बयान देना पड़ा कि पीएम तो काशी विश्वनाथ और काल भैरव मंदिर में दर्शनार्थ गए थे। इस दौरान लोग उनके साथ जुट गए तो जनसैलाब बन गया। गौरतलब है कि यूपी चुनाव के अंतिम चरण में मतदान का प्रतिशत बढ़ाने को लेकर केन्द्रीय मंत्रियों सहित खुद प्रधानमंत्री तक यूपी में डेरा डाले हुए हैं। शनिवार को वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रोड शो कर मतदाताओं से अधिक से अधिक मतदान करने का संदेश दिया। वहीं सीएम अखिलेश व राहुल गांधी ने साझा तौर पर रोड शो किया तो मायावती भी रोड शो के जरिए मतदाताओं के बीच पहुंची। पीएम के रोड शो को लेकर कांगे्रस ने सवाल उठाए और इसे बिना चुनाव आयोग की स्वीकृति आयोजन करने की बात कही। जिससे हंगामा बरप गया। इस पर आखिरकार केन्द्रीय मंत्री पीयूष गोयल मीडिया के सामने आए और कहा कि पीएम ने कोई रोड शो नहीं किया। वे तो काशी विश्वनाथ और काल भैंरव मंदिर में दर्शनों के लिए थे। इस दौरान जनसैलाब उनके साथ हो लिया। बरहाल कांग्रेस से शिकायत मिलने के बाद चुनाव आयोग ने इस मामले को गंभीरता से लिया और स्थानीय प्रशासन से इस बाबत जवाब तलब किया। इधर
रविवार को पीएम का पहला रोड शो दोपहर 3 बजे से पुलिस लाइन से शुरू होगा, जो शो पांडेयपुर चौराहा, हुकुलगंज, चौकाघाट, तेलीयाबाग, पटेल धर्मशाला और सिंह मेडिकल चौराहा होते हुए शाम 6 बजे काशी विद्यापीठ पहुंचेगा। जहां चुनावी जनसभा के तहत पीएम आमजनता को संबोधित करेंगे। दूसरा रोड शो काशी विद्यापीठ से शाम साढ़े सात बजे होगी। सोमवार को पीएम मोदी गढ़वाघाट आश्रम जाएंगे।

-जनप्रहरी एक्सप्रेस की ताजातरीन खबरों के लिए हमसे जुड़े रहने के लिए यहां लाइक करें।

कोई जवाब दें