Bye-Elections

मुंबई: मध्यप्रदेश के चित्रकूट विधानसभा उपचुनावों में भाजपा की हार पर तंज कसते हुए शिवसेना ने आज कहा कि सत्तारूढ़ दल के प्रयासों के बावजूद देश कांग्रेस मुक्त नहीं हुआ है। चित्रकूट विधानसभा सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार ने रविवार को 14 हजार से ज्यादा वोट से जीत दर्ज की। पार्टी के मुखपत्र ‘सामना’ के संपादकीय में शिवसेना ने कहा कि ऐसा नहीं है कि चित्रकूट उपचुनाव हारने से भाजपा को काफी नुकसान हो गया। बहरहाल, इसने कहा कि वह यह सोचकर डरी हुई है कि क्या कांग्रेस के हारने का सिलसिला खत्म हो गया है।

इसने कहा, ‘‘भाजपा पहले पंजाब में गुरदासपुर लोकसभा सीट हार गई। फिर नांदेड़ (महाराष्ट्र) नगर निगम चुनाव। चित्रकूट भाजपा की तीसरी हार है।’’ राजग के सहयोगी दल ने कहा कि चित्रकूट विधानसभा उत्तरप्रदेश की सीमा से लगता हुआ है और राज्य के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने वहां तीन दिनों तक भाजपा के लिए प्रचार किया। उद्धव ठाकरे नीत पार्टी ने कहा कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसे प्रतिष्ठा की लड़ाई बना ली थी और उपचुनाव में भगवा दल की जीत सुनिश्चित करने के लिए कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी थी। फिर भी चित्रकूट में भाजपा हार गई।

इसने कहा, ‘‘भाजपा की हार से हम दुखी हैं।’’ शिवसेना ने कहा, ‘‘भाजपा के प्रयासों के बावजूद पिछले दो-तीन वर्षों में देश कांग्रेस मुक्त नहीं हुआ है। कांग्रेस को चित्रकूट उपचुनावों में भी नहीं हराया जा सका।’’ उपचुनावों में कांग्रेस उम्मीदवार निलांशु चतुर्वेदी ने अपने निकटतम भाजपा प्रतिद्वंद्वी शंकर दयाल त्रिपाठी को पराजित किया था।

कोई जवाब दें