Daty Maharaj misdemeanor case transferred to CBI

जयपुर। शिष्या से दुष्कर्म करने के मामले में आखिरकार शनिधाम मंदिर के महंत दाती मदन महाराज फरार हो गए हैं। वे अब न अपने आश्रम है और न ही शनिधाम मंदिर में। वे टीवी-चैनलों में भी दिखाई नहीं दे रहे हैं। कल तक आश्रम और मंदिर में ही रहने और पुलिस का पूरा सहयोग करने का दावा करने वाले दाती मदन महाराज दिल्ली पुलिस की कार्रवाई के बाद से फरार है।

दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को दिल्ली के शनिधाम और शनिवार को आलावास आश्रम में दबिश देकर उन स्थानों को मौका मुआयना किया था, जहां शिष्या के साथ रेप की घटना को अंजाम दिया गया। इस दौरान पीडिता भी साथ थी। उसने मौका स्थल की तस्दीक की, साथ ही दाती महाराज की खास सहयोगी श्रद्धा व दूसरे सेवादारों के नाम भी बताए, जिन्होंने उसके साथ रेप किया। इस दौरान पुलिस ने सेवादारों के बयान लिए हैं, साथ ही आश्रम सीसीटीवी फुटेज और उससे जुड़े कंप्यूटर भी जब्त किए हैं।

आलावास आश्रम पाली में पीडिता उन दो कमरों में पुलिस को लेकर गई, जहां उसके साथ दरिदंगी हुई थी। पुलिस ने कमरों को सील कर दिया है। पुलिस कार्रवाई के दौरान आश्रम में सन्नाटा पसरा हुआ था। उधर, पुलिस ने दाती मदन महाराज को शनिवार को बयान देने के लिए बुलाया था। इसके लिए नोटिस भी दिए थे, लेकिन दाती महाराज नहीं आए। बताया जाता है कि सोमवार दाती महाराज पुलिस के समक्ष आ सकते हैं।

कोई जवाब दें