Large road projects may be dangerous: study

जयपुर। जिले में सड़क सुरक्षा सप्ताह के तहत आगामी 23 से 30 अप्रेल तक टै्रफिक नियमों की पालना, सड़क दुर्घटनाओं की रोकथाम और दुर्घटना के समय नागरिकों की भूमिका आदि विषयों पर विभिन्न जागरूकता गतिविधियों और कार्यक्रमों का आयोजन किया जायेगा। बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रथम) डॉ. मोहन लाल यादव ने विभिन्न विभागों के अधिकारियों और स्वयं सेवी संगठनों के प्रतिनिधियों से कहा कि वे व्यवहारिक सोच और एप्रोच के साथ ऎसे कार्यक्रमों का चयन करे, जिससे जिले के नागरिक सीधे तौर पर लाभान्वित हो और वे यातायात के नियमों का पालन करने के लिए प्रेरित हो। क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी, कल्पना अग्रवाल ने सड़क सुरक्षा सप्ताह के तहत आयोजित होने वाले कार्यक्रमों की रूप रेखा के साथ ही प्रचार-प्रसार गतिविधियों में जयपुर विकास प्राधिकरण, नगर निगम, टे्रफिक पुलिस, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य तथा शिक्षा विभाग के स्तर पर संचालित की जाने वाली गतिविधियों पर प्रकाश डाला।

बैठक में शामिल विभिन्न एनजीओ के प्रतिनिधियाें ने स्कूलों व कॉलेज के माध्यम से जागरूकता के लिए रोड सेफ्टी की थीम पर नुक्कड़ नाटक, प्रदर्शनी एवं अन्य कार्यक्रम आयोजित करने के बारे में अपनी कार्य योजना बताई। सड़क सुरक्षा सप्ताह के दौरान गलत ओवर टेकिंग, वाहनों द्वारा बिना वजह होर्न बजाकर ध्वनि प्रदूषण करने, नशे में वाहन चलाने, हैलमेट का प्रयोग नहीं करने, वाहन चलाते समय मोबाईल का प्रयोग आदि विषयाें पर फोकस करते हुए गतिविधियों के आयोजन पर बिन्दुवार चर्चा की गई।

बैठक में सप्ताह के दौरान शिक्षा विभाग के माध्यम से जिले के शहरी व ग्रामीण क्षेत्र की स्कूलों में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने, टै्रफिक पुलिस के माध्यम से प्रदर्शनीे के आयोजन, वाहनों पर रिफलेक्टर लगाने, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से दुर्घटना के समय जीवन की रक्षा के लिए प्राथमिक चिकित्सा एवं अन्य सावधानियों के बारे में प्रशिक्षण भी आयोजित करने के बारे में चर्चा की गई। बैठक में परिवहन विभाग सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी और स्वयं सेवी संगठनों के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

कोई जवाब दें