corruption

अहमदाबाद : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज गुजरात चुनाव प्रचार के दौरान एक दूसरे पर जमकर हमला बोला। मोदी ने दावा किया कि विपक्षी दल के नेताओं ने मणिशंकर अय्यर के उन्हें ‘‘नीच’’ कहने से एक दिन पहले पाकिस्तान के मौजूदा एवं पूर्व अधिकारियों के साथ एक गुप्त बैठक की थी। उधर राहुल ने कहा कि मोदी लगातार चुनावी मुद्दा बदल रहे हैं और उनके पास अब बोलने को कुछ भी नहीं बचा है। मोदी ने दावा किया कि पाकिस्तान गुजरात चुनाव में हस्तक्षेप करने की कोशिश कर रहा है।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कट्टरपंथी मुस्लिम संगठन पीएफआई द्वारा कांग्रेस समर्थित दलित उम्मीदवार जिग्नेश मेवानी के वित्तपोषण का मुद्दे उठाया। इसके साथ ही कथित मुस्लिम तुष्टीकरण एवं गुजरात दंगे जैसे मुद्दे दोबारा सामने आ गए। आने वाले कुछ ही दिनों में कांग्रेस की कमान संभालने जा रहे राहुल ने मोदी पर हमला किया लेकिन वादा किया कि वे प्रधानमंत्री के खिलाफ एक भी ‘‘गलत शब्द’’ का इस्तेमाल नहीं करेंगे। मोदी ने पाकिस्तानी सेना के पूर्व महानिदेशक सरदार अरशद रफीक की वरिष्ठ कांग्रेस नेता अहमद पटेल को गुजरात का मुख्यमंत्री बनाने की कथित अपील को लेकर भी सवाल किए।

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘मीडिया में मणिशंकर अय्यर के आवास पर हुई बैठक के बारे में कल खबरें थीं। इसमें पाकिस्तान के उच्चायुक्त, पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री, भारत के पूर्व उपराष्ट्रपति और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने हिस्सा लिया।’’ मोदी ने कहा कि अय्यर के आवास पर तकरीबन तीन घंटे तक बैठक चली। उन्होंने कहा, ‘‘अगले दिन, मणिशंकर अय्यर ने कहा कि मोदी ‘नीच’ है। यह गंभीर मामला है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘एक तरफ पाकिस्तानी सेना के पूर्व डीजी गुजरात के चुनाव में हस्तक्षेप कर रहे हैं। दूसरी तरफ पाकिस्तान के लोग मणिशंकर अय्यर के आवास पर बैठक कर रहे हैं।’’ मोदी ने कहा, ‘‘और उस बैठक के बाद गुजरात की जनता, पिछड़ा समुदाय, गरीब लोगों और मोदी का अपमान किया गया। क्या आप नहीं मानते कि इस तरह की घटनाएं संदेह पैदा करती हैं?’’ हालांकि कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने मोदी के दावे को ‘‘बेबुनियाद’’ बताते हुए खारिज कर दिया।

 

कोई जवाब दें