नई दिल्ली। राजस्थान में चोटी काटने की घटनाओं पर विराम लगने के बाद अब यह मामला दिल्ली-एनसीआर के रास्ते होता हुआ उत्तरप्रदेश में जा पहुंचा है। यूपी के आगरा स्थित फतेहाबाद में चोटी काटने के शक में भीड़ ने एक बुजुर्ग महिला को तब तक पीटा जब तक वह अधमरी न हो गई। बाद में उसे अस्पताल ले जाया गया। जहां उसकी मौत हो गई।

जानकारी के अनुसार फतेहाबाद के मुटनई गावं में देर रात एक महिला की चोटी गई। अगले दिन सुबह गांव वालों ने एक बुजुर्ग महिला को घूमते हुए देखा और उसे ही चोटी काटने वाली समझकर बुरी तरह पीटा। जिससे बुजुर्ग महिला बुरी तरह घायल हो गई। बुजुर्ग महिला को अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया।

-शौच के लिए गई थी महिला, रास्ता भटका तो मिली मौत
जानकारी के अनुसार मृतका माना देवी फतेहाबाद की रहने वाली थी। रात को अंधेरा होने से माना देवी रास्ता भटक गई और गलती से बघेल समाज की बस्ती में पहुंच गई। जहां चारपाई पर एक युवती सो रही थी। अचानक युवती की नींद टूटी तो सफेद साड़ी में महिला को देख वह चिल्ला उठी। युवती के चिल्लाने की आवाज सुनकर बस्ती के लोग हाथों में लाठियां लेकर दौड़ पड़े। लोगों ने बुजुर्ग महिला को चुड़ैल समझकर उसे पीटना शुरू कर दिया। जिससे वह गंभीर रुप से घायल हो गई। बाद में उसे अस्पताल ले जाया गया। जहां उसकी मौत हो गई। इधर महिला के परिजनों ने थाने में शव रखकर जमकर हंगामा किया और आरोपियों को पकडऩे की मांग की। परिजनों ने बताया कि महिला शौच के लिए गई थी। बाद में पुलिस ने आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की बात कही। वहीं पुलिस ने बताया कि मृतका विक्षिप्त थी। उसके सिर पर डंडा लगा। जिससे उसकी मौत हो गई।

-राजस्थान से शुरू हुआ सिलसिला
बता दें महिलाओं की चोटी कटने का सिलसिला राजस्थान से शुरू हुआ। राजस्थान के जैसलमेर, जोधपुर, जयपुर के ग्रामीण इलाकों व भरतपुर से दिल्ली एनसीआर, हरियाणा के झज्जर, मेवात, रोहतक आदि जिलों के गांवों में चोटी कटने की घटनाएं सामने आई। हालांकि पुलिस जांच के दौरान घटनास्थलों पर किसी प्रकार का कोई सुराग हाथ नहीं लगा। पीडि़तों ने भी किसी कथित हमलावर को नहीं देखा। पूछताछ में किसी अज्ञात शख्स के उपस्थित होने व महसूस करने की बात कही।

कोई जवाब दें