-थाने में विधायक पुत्र व भाजपा पदाधिकारी के साथ की थी मारपीट
जयपुर। राजस्थान के टोंक जिले स्थित कोतवाली पुलिस थाने में भाजपा विधायक के पुत्र व एक अन्य भाजपा कार्यकर्ता के साथ मारपीट के मामले अपनी खाल बचाते हुए एसपी प्रीति जैन ने एक सब इंस्पेक्टर सहित 5 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया।

बता दें टोंक विधायक अजीत सिंह मेहता का बेटा विशाल मेहता व नगर परिषद सभापति लक्ष्मी देवी के भतीजे और भाजपा पदाधिकारी सम्मैद जैन मंदिर की दुकानों के विवाद में रिपोर्ट दर्ज कराने स्थानीय कोतवाली थाने में गए थे। यहां सब इंस्पेक्टर राजपाल सहित करीब आधा दर्जन पुलिसकर्मियों ने उनके साथ जमकर मारपीट कर डाली। साथ ही उनके मोबाइल छिन लिए। विशाल व सम्मैद जैसे तैसे वहां से भाग निकले। बताया जा रहा है कि मारपीट करने वाले पुलिसकर्मी सादा वर्दी में थे। थाने से बाहर आने के बाद उन्होंने यह बात विधायक अजीत सिंह व पार्टी कार्यकर्ताओं को बताई। जिससे विधायक समर्थकों का रोष फूट पड़ा। नारेबाजी करते हुए विधायक समर्थकों ने थाने का घेराव कर डाला तो सड़क पर जाम लगा धरने पर बैठ गए।

घटना के वक्त विधायक अजीत सिंह मेहता जयपुर पार्टी के काम से गए हुए थे। सूचना मिलने के साथ ही वे टोंक पहुंच गए। यहां उन्होंने पुलिस अधीक्षक प्रीति जैन व एएसपी अवनीश शर्मा के साथ बैठक कर घटना की जानकारी ली। साथ ही दोषी पुलिसकर्मियों को सस्पेंड करने की मांग की। बाद में विशाल व सम्मैद को दोषी पुलिसकर्मियों की पहचान के लिए थाने बुलाया गया। जहां उन्होंने मारपीट के आरोपी पुलिसकर्मियों की पहचान की। बाद में एसपी प्रीति जैन ने आरोपी सब इंस्पेक्टर राजपाल सहित 5 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया। जिससे टोंक में मचा बवाल शांत हुआ।

-जनप्रहरी की ताजातरीन खबरों के लिए लाइक करें।

कोई जवाब दें