India's heaviest in ODI series against New Zealand

मुंबई । इस सत्र में एकतरफा जीत दर्ज करने वाली भारतीय टीम कल से शुरू हो रही तीन मैचों की वनडे श्रृंखला के लिये न्यूजीलैंड के खिलाफ उतरेगी तो मौजूदा फार्म के आधार पर उसका पलड़ा भारी होगा ।विश्व चैम्पियन आस्ट्रेलिया को हराने के बाद भारत के हौसले बुलंद है । न्यूजीलैंड को शानदार फार्म में चल रही मेजबान टीम को हराने के लिये अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा ।भारत का बल्लेबाजी और गेंदबाजी संयोजन संतुलित है और सभी खिलाड़ियों ने जीत में योगदान दिया है। एक ईकाई के रूप में विराट कोहली की टीम का प्रदर्शन बेहतरीन रहा है।तीन सत्र पहले भारत को इस मैदान पर दक्षिण अफ्रीका ने हराया था लेकिन उसके बाद से भारत ने अपनी सरजमीं पर लगातार तीन श्रृंखलायें जीती है । अपराजेय होती जा रही भारतीय टीम ने जीत का ऐसा तिलिस्म अपने इर्द गिर्द बना लिया है जिसे तोड़ना आसान नहीं लग रहा ।आस्ट्रेलिया से 2009 . 10 में हारने के बाद भारत 16 द्विपक्षीय मैचों में सिर्फ पाकिस्तान ( 2012 ) और दक्षिण अफ्रीका से हारा है ।

आस्ट्रेलिया पर उसने 4 . 1 से जीत दर्ज की जबकि कप्तान विराट कोहली सर्वश्रेष्ठ फार्म मेंनहीं थे और सलामी बल्लेबाज शिखर धवन भी टीम से बाहर थे । उपकप्तान रोहित शर्मा ने 296 रन बनाये जिसमें एक शतक और दो अर्धशतक शामिल थे । अजिंक्य रहाणे ने चार अर्धशतक समेत 244 रन जोड़े जबकि हरफनमौला हार्दिक पंड्या ने 222 रन बनाये । महेंद्र सिंह धोनी ने भी उम्दा बल्लेबाजी की ।यदि भारतीय टीम ने यही लय कायम रखी तो न्यूजीलैंड को वानखेड़े की पिच पर हराना मुश्किल नहीं होगा । बल्लेबाजों की ऐशगाह मानी जाने वाली इस पिच पर खूब रन बनने की उम्मीद है । चाइनामैन कुलदीप यादव और लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल की अगुवाई में नये स्पिन आक्रमण ने अच्छा प्रदर्शन किया है । इन दोनों का साथ देने के लिये बायें हाथ के स्पिनर अक्षर पटेल भी हैं । तेज गेंदबाजी का मोर्चा भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमरा संभालेंगे ।

कोई जवाब दें