Trial of Dr. Abdul Hameed's Death Reference upto High Court hearing till 26

जयपुर। अत्यधिक गुणवत्ता, उचित कार्यक्षमता एवं अच्छी कार्यकुशलता वाली जेसीबी मशीन बेचने तथा गारंटी-वारंटी पीरियड में ही बार-बार खराब होने के मामले में राज्य उपभोक्ता आयोग बैंच-दो में सदस्य कमल कुमार बागड़ी एवं मीना मेहता ने विपक्षी नेशनल मोटर्स, झोटवाड़ा तथा महिन्द्रा कन्स्ट्रक्शन इक्यूपमेंट, मुम्बई का सेवा दोष मानते हुए सवा लाख रुपए का हर्जाना लगाया है तथा 15 दिन में परिवादी से उपरोक्त मशीन लाकर खराबी के संबंध में विश्ोषज्ञ से जांच करवाकर दो माह के भीतर नि:शुल्क ठीक कर परिवादी को सुपुर्द करने के आदेश दिए हैं।

इस संबंध में जमवारामगढ़ के नेवर गांव निवासी रमेश चन्द मीणा ने आयोग के समक्ष 21 अप्रेल, 2०16 को परिवाद दायर किया था। परिवादी ने आयोग को बताया कि निजी व घरेलू जीविकोपार्जन के लिए महिन्द्रा एण्ड महिन्द्रा द्बारा निर्मित जेसीबी अर्थमास्टर 3० नवम्बर, 2०13 को 22 लाख 9० हजार रुपए में विपक्षी गण से क्रय की थी। कुछ समय तक मशीन खुदाई में तो ठीक-ठाक चलती रही, लेकिन कठोर भूमि में चलाते ही खराब होने लगी। मशीन में उत्पादकीय दोष था। बार-बार सही कराने पर भी मशीन ने कार्य क्षमता के अनुरूप कार्य नहीं किया, जिससे परिवादी को आर्थिक नुकसान हुआ।

परिवादी से पार्टस के नाम पर हजारों रुपए और वसूल किए गए। परिवाद का विपक्षी की ओर से विरोध करते हुए कहा कि खुदाई के लिए लिया गया पंजा केवल खोदने का था, कठोर पथरीली जगह के लिए अलग पंजा काम में नहीं लेने के कारण खराब हुई थी। पहली शिकायत करने पर मशीन 32०० घण्टे सही संचालित किया था।

कोई जवाब दें