जयपुर। उत्तरप्रदेश में सपा और बसपा के बीच गठबंधन तय है। इस गठबंधन में कांग्रेस शामिल नहीं है। सपा और बसपा के प्रमुख अखिलेश यादव और मायावती शनिवार को सीटों के बंटवारे का ऐलान कर सकते हैं। अखिलेश यादव और मायावती शनिवार को लखनऊ में संयुक्त प्रेसवार्ता कर सकते हैं। इस बारे में सपा के ट्वीटर पर ट्वीट आया है। ट्वीटर हैण्डल से भेजे गए मीडिया को आमंत्रण पत्र में सपा के राष्ट्रीय सचिव राजेंद्र चौधरी, बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा के हस्ताक्षर है।

यूपी में अस्सी सीटें है। सपा और बसपा के बीच 37-37 सीटों पर सहमति बनी है। शेष छह सीटें कांग्रेस, लोकदल के लिए छोड़ी गई है। हालांकि कांग्रेस पन्द्रह सीटें मांग रही है। ऐसा ना होने पर अकेले यूपी में चुनाव लडऩे का ऐलान कर चुकी है। तीन राज्यों राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार के गठन के बाद पार्टी में उत्साह है।

वे अकेले दम पर चुनाव लड़ सकती है। यूपी में राहुल गांधी और सोनिया गांधी ने अपनी सीटें जीती थी। एक दर्जन सीटों पर दूसरे स्थान पर रही थी कांग्रेस। ऐसे में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी हाल ही बयान में संकेत दिए थे कि वे सपा और बसपा के बिना भी अकेले चुनाव लड़ सकते हैं।

कोई जवाब दें