अजमेर. प्राथमिक शिक्षा वर्ग 17 जून को अविनाश माहेश्वरी विद्यालय भगवान गंज में सम्पन्न हुआ । यह वर्ग राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अजयमेरु विभाग का शिविर था। जिसमें पूरे अजमेर महानगर, अजमेर, ब्यावर एवम किशनगढ़ के स्वयंसेवकों ने भाग लिया। इस आवासीय शिविर में 7 दिन 24 घंटे शारिरिक ,बौद्धिक एवम वैचारिक प्रशिक्षण प्राप्त किया। वर्ग के कार्यवाह बृजेश मिश्रा थे।
समापन कार्यक्रम में पुरषोत्तम परांजपे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्रीय कार्यकारणी सदस्य ने मार्गदर्शन दिया। पुरषोतम ने शिक्षार्थियों को संबोधन  करते हुए कहा कि जो प्रशिक्षण जो योग्यता आपने यहां पर अर्जित की है। उसको अपने-अपने  स्थान पर प्रकट करने का समय है ओर वह अधिकतम योग्यता से करना है । इस तरह के प्रशिक्षण संघ में 1927 से हो रहे हैं। इसी से कार्यकर्ता का निर्माण होता है । यही कार्यकर्ता आगे चलकर अपने-अपने क्षेत्र में अग्रणी रहकर संघटन को शक्ति देते हैं । जिसके फलस्वरूप ही संघ आज विश्व का  सबसे बड़ा गैर राजनीतिक संगठन  है। ऐसे  कार्यकर्ताओं के द्वारा ही देश में 65000 स्थानों तक संघ का कार्य पहुंचा है । आज शिक्षा के क्षेत्र में  विद्या भारती, छात्रों में abvp, किसान के भारतीय किसान संघ, भारतीय मजदूर संघ ,विश्व हिंदू परिषद अन्यान्य समवैचारिक संगठन देश में अग्रणी होकर कार्य कर रहे हैं।
आज पूरा विश्व भारत की हिन्दू विचारधारा यहाँ की संस्कृति यहां के संयुक्त परिवार व्यवस्था को मानता है । हिन्दू समाज जो विभिन्न धर्मों को सम्मान ही नहीं देता बलिक अपनी-अपनी पूजा पद्धति से जीने के स्वतंत्रता भी देता है। यहां चींटी से लेकर पशु-पक्षी ,पेड़ पौधों को भी ईश्वर स्वरूप में पूजा जाता है। इसी कारण अमेरिका के पूर्व राष्पति  बराक  ओबामा तक अपने साथ हनुमान जी की तस्वीर रखते हैं । अमेरिका की सीनेट में वेदों के मंत्रोचार द्वारा सत्र की शुरुवात होती है। शिक्षार्थियों ने वर्ग में दंड , नियुद्ध ,समता, पदविन्यास, संचलन ,सूर्य नमस्कार योग आदि का प्रशिक्षण प्राप्त किया। कार्यक्रम का संचालन मुख्य शिक्षक भूपेंद्र ने किया तथा विभिन्न शिक्षकों ने क्रमशः आकर शिक्षार्थियों से अपने-अपने शारीरिक प्रदर्शन करवाये ।

कोई जवाब दें