encounter in the Pali

जयपुर । तमिलनाडु में चेन्नई के एक पुलिस निरीक्षक की राजस्थान के पाली जिले में आज तड़के एक मुठभेड़ में मौत हो गई। पाली जिले के एक गांव में शहर पुलिस की एक विशेष टीम सोने की लूट के मामले में वांछित संदिग्धों को पकड़ने के लिए गई थी। घटना में चार अन्य पुलिसकर्मी घायल हुये हैं। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने एस पेरीयापांडियन (48) के निधन पर दुख व्यक्त किया है और परिवार को एक करोड़ रूपये की राशि मुआवजा देने की घोषणा की है।

एस पेरीयापांडियन इंस्पेक्टर (कानून और व्यवस्था) मदुरावोयाल थाना में तैनात थे। पलानीस्वामी ने एक बयान में कहा कि राज्य सरकार मारे गये इंस्पेक्टर के दोनों बेटों की शिक्षा का खर्च भी वहन करेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि पांच सदस्यीय एक टीम लूट के सिलसिले में नाथूराम और उसके कुछ साथियों की तलाश के लिए राजस्थान गया था। इस टीम में पेरीयापांडियन, कोलातूर इंस्पेक्टर मुनिसेकर और तीन अन्य पुलिस कर्मचारी अम्बरोस, गुरूमूर्ति और सुदर्शन शामिल थे। गृह मंत्रालय का प्रभार भी देख रहे पलानीस्वामी ने कहा कि आज तड़के पुलिस की टीम पाली जिले में अपराधियों से घिर गयी।

उन्होंने बताया, ‘‘उनकी (अपराधियों) गोलीबारी (पुलिस टीम पर) में पेरीयापांडियन की मौत हो गयी और इस बारे में सूचना मिलने पर मैं दुखी हो गया।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं इस घटना में अपने ड्यूटी के दौरान मारे जाने वाले पेरीयापांडियन के परिवार के पति सहानुभूति व्यक्त करता हूं।’’ मुख्यमंत्री ने घटना में घायल अन्य पुलिसकर्मी के शीघ्र स्वस्थ्य होने की भी कामना की है। पलानीस्वामी ने सभी घायलों के लिए एक-एक लाख रूपये की घोषणा की। सरकार चिकित्सा खर्च का भार भी वहन करेगी।

उन्होंने बताया, ‘‘मैंने पुलिस विभाग को (पिछले महीने) सोना लूटने वाले और आज हमला करने वालों को तत्काल गिरफ्तार करने का निर्देश दिया।’’ पिछले महीने लूटेरों ने छत से सुरंग बना कर दुकान में प्रवेश करने के बाद यहां कोलातूर में जेवरात की एक दुकान से करीब तीन किलोग्राम सोना लूट लिया था। द्रमुक के कार्यकारी अध्यक्ष एम के स्टालिन ने घटना पर दुख व्यक्त किया है। उन्होंने भी पीड़ित के परिवार के सदस्यों से मुलाकात की।

कोई जवाब दें