Rajasthan, storms, hurricanes, strong winds

जयपुर। भारतीय मौसम विभाग ने 20 से 24 जुलाई, 2017 तक गंभीर मौसम की चेतावनी जारी की है। 20 जुलाई मध्य महाराष्ट्र और दक्षिणी कनाज़्टक के अंदरूनी भागों में कुछ स्थानों पर बहुत तेज बौछारों के साथ भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है। कोंकण और गोवा के कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा हो सकती है। पश्चिम मध्य प्रदेश, गुजरात और तटीय कर्नाटक में कुछ जगहों पर भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है।

जम्मू और कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पूर्वी राजस्थान, पूर्वी मध्य प्रदेश, विदर्भ, छत्तीसगढ़, झारखंड, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, उत्तरी कर्नाटक के अंदरूनी भागों, तमिलनाडु, पुद्दुचेरी और केरल में इक्का-दुक्का स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा हो सकती है।

-21 जुलाई को गुजरात, कोंकण और गोवा में भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है। कुछ जगहों पर बेहद तेज बौछारें पड़ सकती हैं। पूर्वी राजस्थान, पश्चिम मध्य प्रदेश, मध्य महाराष्ट्र, तटीय कर्नाटक और दक्षिणी पूर्वी के अंदरूनी भागों में भारी से बहुत भारी वर्षा हो सकती है। हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, झारखंड, गांगेय पश्चिम बंगाल, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा और केरल में इक्का-दुक्का जगहों पर भारी वर्षा होने की बहुत ज्यादा संभावना है।

-22 जुलाई गुजरात में कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है और कुछ जगहों पर बहुत तेज बौछारे भी पड़ सकती हैं। कोंकण और गोवा के कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा हो सकती है। पूर्वी राजस्थान के कुछ स्थानों पर बहुत भारी वर्षा हो सकती है और कुछ जगहों पर तेज बौछारे भी पड़ सकती हैं। उत्तराखंड, पश्चिमी राजस्थान, पश्चिमी मध्य प्रदेश, मध्य महाराष्ट्र, तटीय कर्नाटक और दक्षिणी कर्नाटक के अंदरूनी भागों के कुछ स्थानों पर भारी वर्षा हो सकती है।

-23 जुलाई राजस्थान और गुजरात क्षेत्र की कुछ जगहों पर भारी से बहुत भारी वर्षा हो सकती है। सौराष्ट्र और कच्छ, कोंकण और गोवा, तटीय कर्नाटक और दक्षिणी कर्नाटक के अंदरूनी भागों के अलग-अलग स्थानों पर भारी वर्षा होने की संभावना है।

-24 जुलाई राजस्थान में अलग-अलग जगहों पर भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है। झारखंड, गांगेय पश्चिम बंगाल, कोंकण और गोवा, तटीय कर्नाटक और दक्षिणी कर्नाटक के अंदरूनी भागों में अलग-अलग स्थानों पर भारी वर्षा होने की संभावना है।

कोई जवाब दें