Incidents, increased, rape, during, rule, Chief Minister raje, mla Hanuman Beniwal
Incidents, increased, rape, during, rule, Chief Minister raje, mla Hanuman Beniwal

Jaipur. विधायक हनुमान बेनीवाल लगातार दूसरे दिन भी बाड़मेर जिले के दौरे पर रहे, जहाँ उन्होने बाड़मेर सर्किट हाउस मे जन सुनवाई की तथा प्रेस वार्ता को भी संबोधित किया वहीं विभिन्न सामाजिक व राजनीतिक मुद्दो पर स्थानीय लोगो से चर्चा की | दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी गई 7 वर्षीय मासूम बालिका के परिजनो से मिले विधायक दी आर्थिक सहायता – खिंवसर विधायक हनुमान बेनीवाल ने शिव क्षेत्र मे कुछ समय पूर्व  7 वर्षीय मासूम के साथ हुए बलात्कार के बाद कर दी गई हत्या के मामले मे मासूम के परिजनो को ढाढ़स बंधाने पहुँचे, जहाँ उन्होंने मृतक बालिका के परिजनो को ढाँढस बँधाया वही घटना पर गहरा अफ़सोस जताते हुए कहा की ऐसी घटनाए राज्य व मानवता को शर्मसार करने वाली है जिसमे सरकार को अपराधी को सरे आम फाँसी पर लटकाने का क़ानून लाना चाहिए ताकि अपराधी अपराध करने से पहले हज़ार बार सोचे | विधायक ने बालिका के परिजनो को एक लाख रुपये की आर्थिक नकद सहायता दी वही सरकार से बालयक के परिजनो को 25 लाख रुपये का आर्थिक पैकेज देने की माँग की |गौरतलब है की उनरोड़ गाँव मे बालिका के साथ घटना को अंजाम दिया गया तथा दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या कर दी गई |

-सरकार के पास नही है पीड़ित पक्ष से मिलने का समय

विधायक ने कहा की घटना के बाद ना तो जिला कलेक्टर पीड़ित परिवार से मिले ना ही राज्य सरकार का कोई मंत्री इनसे मिले और वहीं एक तरह अन्य राज्यो मे ऐसी घटनाएँ घटित होने पर वहाँ की सरकारो ने लाखो के आर्थिक पैकेज दिए मगर एक महिला मुख्यमंत्री होते हुए भी प्रदेश मे बढ़ रही मासूमो के साथ दुष्क्रम की घटनाओ के बाद पीड़ितो को सहायता दिलवाने मे गंभीर नही है ,उन्होने कहा की राज्य सरकार के शासन मे महिलाओ पर बलात्कार के मामले मे पूरे देश मे राजस्थान तीसरे नंबर पर आ गया वही आए दिन मासूमो के साथ दुष्क्रम के घटनाए हो रही है मगर पीड़ितो का दुख बाँटने के लिए चुनी हुई सरकार के पास समय नही है | उन्होने कहा की कई नेता पीडिता के परिजनो से मिलने आए मगर किसी ने आर्थिक सहायता नही दी और केवल फोटो खिंचवाकर चले गये |विधायक के साथ शिव के पूर्व प्रधान उदाराम मेघवाल , स्थानीय सरपंच हाकम दान चारण, उप सरपंच बीरमाराम मेघवाल , गजसिंह पूरा सरपंच सुरेंद्र बेड़ा, कुशल दौतड़, नेमाराम पाबड़ा, भोजास सरपंच जगदीश बीडीयासर , पप्पू गोदारा , लक्ष्मण साई सहित कई लोग साथ थे |

कोई जवाब दें