former-minister-devi-singh-bhati
former-minister-devi-singh-bhati

जयपुर। राजस्थान के जोधपुर में सामराऊ गांव में शराब ठेकों को लेकर हुई जातीय हिंसा के बाद क्षेत्र की सियासत गरम है, वहीं जातिगत संगठनों के नेता भी एक-दूसरे के खिलाफ बयानबाजी करके तनाव को बढ़ा रहे हैं। हालांकि क्षेत्र में शांति है और भारी पुलिस बल कानून व्यवस्था में लगा हुआ है। इन सबके बीच भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री देवी सिंह भाटी ने इस घटना को लेकर एक बयान दिया है, जो जातीय हिंसा को बढ़ा रहे नेताओं व लोगों को सीख देने वाली है। भाटी ने कहा कि जोधपुर के सामराऊ की घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। तनाव के माहौल में राजनेता और सामाजिक संगठनों के नेताओं को चाहिए कि वे ऐसी बातें या बयान नहीं दे, जिससे तनाव हो, बल्कि शांति कैसे हो, उसे लेकर मिल-बैठकर कार्य करना चाहिए।

भड़काऊ बयान अनुचित है और हिंसा उससे भी बड़ा अपराध। ऐसी घटनाओं से समाज में विघटन आता है और प्रेम-भाईचारा खत्म होता है। लोगों को भी भडकाऊ भाषण देने वालों नेताओं से दूर रहना चाहिए।

कोई जवाब दें