Prime Minister Narendra Modi
Prime Minister Narendra Modi

-राजस्थान रिफाइनरी का कार्य शुभारम्भ समारोह
बाड़मेर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि बाड़मेर की धरती पर लगने जा रही रिफाइनरी न केवल राजस्थान की तस्वीर और तकदीर बदलेगी बल्कि यह पूरे देश को ऊर्जा देगी। उन्होंने कहा कि 2022 में जब पूरा देश आजादी का 75 वां पर्व मना रहा होगा, तब राजस्थान से देश को नई ऊर्जा मिलनी शुरू हो जाएगी। उन्होंने कहा कि मरु भूमि में जब इतना बड़ा उद्योग लगेगा तो लाखों लोगों की रोजी-रोटी का प्रबन्ध होगा और इस क्षेत्र का आर्थिक परिदृश्य बदल जाएगा।

प्रधानमंत्री मोदी मंगलवार को मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे एवं केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान की मौजूदगी में बाड़मेर के पचपदरा में राजस्थान रिफाइनरी के कार्य शुभारम्भ समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने पूरे देश में हजारों करोड़ की योजनाओं के केवल पत्थर लगाए और जनता को गुमराह किया, लेकिन मैं मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे और केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री को बधाई देना चाहूंगा कि उनके प्रयासों से धरातल पर आई इस रिफाइनरी के बाद कोई नेता बिना तैयारी के पत्थर लगा कर जनता को गुमराह नहीं कर सकेगा। अगर करेगा तो लोग उससे पूछेंगे कि इस प्रोजेक्ट की शुरू होने की तारीख बताओ। मोदी ने कहा कि 70 साल तक लोकतंत्र के मंदिर में बैठकर लोगों को गुमराह करने का प्रयास किया गया। जब मैं पीएम बना तो मैंने देखा कि रेलवे बजट में ऐसी घोषणाएं की गईं जो आज भी कागजों में लटकी पड़ी हैं।

मैंने हिम्मत जुटा कर रेलवे बजट के बहाने झूठी वाहवाही लूटने की परम्परा को बन्द किया ताकि देश को सच बोलने और सच सुनने की ताकत मिले। प्रधानमंत्री ने कहा कि 15 सितम्बर 2013 को मैंने रेवाड़ी में वादा किया था कि अगर हमारी सरकार बनी तो हम देश में हमारे पूर्व सैनिकों के लिए वन रैंक वन पेंशन लागू करेंगे। तब आनन-फानन में तत्कालीन केन्द्र सरकार ने अंतरिम बजट में इस योजना के नाम पर पांच सौ करोड़ रूपए लिख दिए। जब हमारी सरकार बनी तो मैंने अधिकारियों से इसकी जानकारी मांगी तो पता चला कि वहां तो इस योजना का कागज भी नहीं था। लेकिन मैंने वादा कर लिया था इसलिए इस योजना की तैयारी शुरू की तो पता चला कि इस पर साढ़े बारह हजार करोड़ रुपए का भार आएगा। हमने अपने वादे को पूरा करते हुए चार किस्त में 10,700 करोड़ रुपए पूर्व सैनिकों के खातों में पहुंचा दिये हंै। शेष राशि भी शीघ्र दे दी जाएगी। प्रधानमंत्री ने अपने उद्बोधन के दौरान बाड़मेर के संत मल्लीनाथ जी, तुलसाराम जी, ईश्वरदास जी, नागणेची माता, भटियाणी माता सहित अन्य संतों को नमन किया। उन्होंने कहा कि यहां के स्वतंत्रता सेनानी गुलाबचन्द सालेचा ने नमक सत्याग्रह में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। प्रधानमंत्री ने खम्मा घणी के साथ अपना संबोधन शुरू किया तो पूरा समारोह स्थल मोदी-मोदी के नारों से गूंज उठा। इससे पहले प्रधानमंत्री ने रिमोट से रिफाइनरी कार्य शुभारम्भ पट्टिका का अनावरण किया।

 

कोई जवाब दें