जयपुर। रियल एस्टेट कारोबार पिछले दो साल से मंदी के दौर से गुजर रहा है। कारोबार में छाई मंदी अब शीघ्र ही छंटने लगेगी। क्योंकि इन दिनों वास्तविक  खरीद करने वाले लोगों को भविष्य में बेहतर रिटर्न मिलने के अवसर हैं। आने वाले समय में चाहें भवन हो या फिर कॉमर्शियल प्रोजेक्ट्स सभी की उपभोक्ता खरीद में इजाफा होगा। कारोबार में चल रही मंदी अब अधिक समय तक नहीं टिक सकती जिसे देखते हुए जमीनों की खरीद-फरोख्त शुरू हो गई है। आने वाला समय रियल एस्टेट के लिए वरदान साबित होगा। यह विचार बिल्डर्स एसोसिएशन ऑफ जयपुर सेंटर के शपथ ग्रहण समारोह में बीएआई मुम्बई के पूर्व प्रेसीडेंट एस.पी. गोयल ने बतौर मुख्य अतिथि के रूप में व्यक्त किए।
उन्होंने बताया कि जयपुर में 45 लाख की जनसंख्या है जिसमें 9 लाख से अधिक परिवार हैं। जिस तरह से जनसंख्या बढ़ रही है उसे देखते हुए जयपुर में हर साल 18 हजार से अधिक मकानों की आवश्यकता है। लेकिन फिलहाल चल रही मंदी के दौर में इस कारोबार की ग्रोथ 50 फीसदी तक कमजोर  बताई जा सकती है। व्यवसाय में इस तरह की मंदी 2008 में देखी गई। चाहे कोई सा भी कारोबार हो सभी में तेजी मंदी का दौर बना रहता है। जिसे देखते हुए व्यवसाय में फिर से बूम की स्थिति बनेगी। ऐसे में कारोबारियों की ओर से अपने महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट्स की रूपरेखा तैयार की जा रही है।  उन्होंने मंदी का तर्क देते हुए कहा कि इस समय जो लोग प्रोपर्टी की खरीददारी कर रहे हैं उन्हें आने वाले समय में 50 फीसदी तक रिटर्न की बात कही।
समारोह को संबोधित करने के बाद गोयल ने नवगठित कार्यकारणी के पदाधिकारियों में जयपुर सेंटर के चेयरमैन आर डी खंडेलवाल,  स्टेट को ऑर्डिनेटर प्रदीप कुमार जैन,  वाइस चेयरमैन राजीव जैन- दिनेश केडिया, महासचिव रजनीश गोयल, संयुक्त सचिव दिनेश गुप्ता, और कोषाध्यक्ष अजय गोयल को पद गोपनीयता की शपथ दिलाई। इनके अलावा कार्यकारिणी में  एस.पी. गोयल,  अशोक अग्रवाल, श्याम सुंदर,  एस. पी. शर्मा, विकास जैन तिजारिया, अतुल खंडेलवाल महेंद्र कुमार झा, पवन भार्गव और स्फूर्ति क्लब अध्यक्ष नीलिमा जैन, उपाध्यक्ष,  नूतन गोयल और कोषाध्यक्ष गुणमाला को भी पद गोपनीयता की शपथ दिलाई।

कोई जवाब दें