Hoonar rally
जयपुर। राजस्थान के खींवसर से निर्दलीय विधायक व किसान नेता हनुमान बेनीवाल ने बाड़मेर में हुंकार रैली में लाखों की भीड़ इकट्ठी करके ना केवल भाजपा सरकार और विरोधियों को चौंकाया, बल्कि किसान और युवाओं के हितों के लिए सरकार से दो-चार हाथ करने की हुंकार भरी है। बेनीवाल की रैली में करीब दो लाख से अधिक लोग शामिल हुए, जिसमें बड़ी संख्या में युवा थे। इतनी भीड़ को देखकर भाजपा सरकार और कांग्रेस के नेताओं में खलबली मची हुई है। इस रैली में तीसरे मोर्च के गठन की घोषणा हुई है। अगर तीसरा मोर्चा बना तो भाजपा व कांग्रेस के लिए खतरे की घंटी माना जा रहा है। क्योंकि हनुमान बेनीवाल ने अपने करिश्माई नेतृत्व और जन आंदोलन से शेखावाटी, मारवाड़ में धाक जमाई है और जाट व किसान नेता के तौर पर स्थापित हो गए हैं।
नागौर के बाद अब बाड़मेर में लाखों की हुंकार रैली ने यह साबित भी कर दिया है। जबकि इतनी भारी भीड़ सिर्फ राजनीतिक दलों की रैलियों व सभाओं में ही देखी जा सकती है। हनुमान बेनीवाल ने अपने दम पर इतनी बड़ी रैली करके विरोधियों को संकेत दे दिए हैं कि दिसम्बर में होने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा व कांग्रेस की राह इतनी आसान नहीं है। इस हुंकार रैली में राजपा के अध्यक्ष और विधायक डॉ. किरोडी लाल मीना भी थे, जिन्होंने विधानसभा चुनाव में तीसरे मोर्चे के बारे में खुलास किया, हालांकि जयपुर में बड़ी रैली करके इसकी घोषणा की जाएगी। हुंकार रैली में हनुमान बेनीवाल ने राज्य और केन्द्र की भाजपा सरकार पर खूब निशाने साधे।
बाड़मेर में पीएम नरेन्द्र मोदी के सोलह जनवरी को होने वाले रिफाइनरी शिलान्यास पर चुटकी लेते हुए कहा कि जब कांग्रेस राज में रिफाइनरी का शिलान्यास हो गया तो अब भाजपा क्यों दुबारा शिलान्यास करवा रही है। बेनीवाल ने सीएम वसुंधरा राजे व पीएम नरेन्द्र मोदी के बहकावे में नहीं आने के लिए कहा। राजस्थान के युवा व किसान जाग चुके हैं। अब राजस्थान में परिवर्तन की आंधी चली है, जो विधानसभा चुनाव में भाजपा सरकार को उखाड़ फैंकेगी और राज्य में किसान की सरकार बनेगी। बेनीवाल ने बीकानेर, सीकर और फिर जयपुर में हुंकार रैली की घोषणा की।

कोई जवाब दें