जयपुर। आनंदपाल एनकाउंटर मामले में सीबीआई की मांग कर रहे राजपूत समाज ने 12 जुलाई को सांवराद में एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया था जिसमें उपद्रव हो गया। और रैली में आए लोगों के साथ-साथ पुलिसकर्मी भी जख्मी हो गए थे। इसी सिलसिले में पुलिस ने शुक्रवार को जयपाल को गिरफ्तार किया था। जब उससे पूछताछ की गई तो उसने कई राज खोले। पुलिस ने उससे पूछताछ करके उसके द्वारा बताई गई जगह पर उसके मामा के घर से आरएसी कंपनी के कमांडर की रिवॉल्वर की मैगजीन बरामद कर ली। जिसमें पुलिस को 4 जिंदा कारतूस और व एक खोखा मिला है। जबकि आरोपी जयपाल ने पांच राउंड फायर किए थे। जिनके खोल अभी तक पुलिस को नहीं मिले हैं।
मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपी की चार दिन की रिमांड ली गई है जिसके दौरान उससे पूछताछ जारी है और उससे कई राज खुलने की उम्मीद है।

रिमांड खत्म होने के बाद उसे न्यायालय में पेश किया जाएगा। पुछताछ में पहले तो आरोपी आनाकानी करता रहा, मैगजीन के बारे में अनभित्रता जाहिर करता रहा। मगर जब पुलिस सख्ती से पूछा तो उसने तो उसने मैगजीन के बारे में बताया। तथा रविॉल्वर के मैगजीन छुपाने की जगह की तस्दीक की। जो कि सीकर में उसके मामा के घर में छुपाई गई थी। पुलिस वहां से मैगजान बरामद कर ली है। पुलिस ने जब उससे पूछा कि उसने इस मैगजीन से कहां फायर किया तो उसने कहा मैंने अपने गांव के आसपास के खेतों में पांच राउंड हवाई फायर किए थे। पुलिस ने जयपाल की बताई जगह पर गहनता से जांच पड़ताल की मगर उन्हें वहां मैगजीन का कोई खोल नहीं मिला। जांच अधिकारी ने बताया कि रिवॉल्वर की एफएसएल जांच कि जाएगी जिससे पता चल सकेगा की सांवराद रेलवे स्टेशन पर हुए उपद्रव कौन-कौन से आम नागरिक और पुलिसकर्मी 9 एमएम की रिवॉल्वर से घायल हुए हैं। एफएसएल की जांच आने के बाद ही पता चल सकेगा कि आरोपी ने फायर अपने खेत में ही किए थे या सांवराद में हुए उपद्रव के दौरान किए थे। वहीं पुलिस यह भी प्रयास कर रही है कि सांवराद हिंसा के दौरान लूट गए हथियार जल्द से जल्द बरामद किए जाएं।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

कोई जवाब दें