जयपुर। उद्योग विभाग द्वारा आगामी 14 से 17 मार्च तक आयोजित रसोई-2019 ः स्वाद राजस्थान का उत्सव में जयपुरवासी प्रदेश के कोने-कोने के व्यंजनों का आंनद ले सकेंगे वहीं रसोई उत्सव में शुद्ध व गुणवत्तायुक्त मसाले भी उपलब्ध होंगे।

उद्योग आयुक्त डॉ.कृष्ण कांत पाठक जल महल स्थित राजस्थान हाट में फूड प्रोसेसिंग क्षेत्र के प्रतिनिधियों के साथ रसोई उत्सव की तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। इस अवसर पर फोर्टी के इंटरनेशनल अफेयर्स कमेटी के चेयरमेन श्री अजय गुप्ता, राजस्थान ऑयल मैन्यूफेक्चरिंग फैडरेशन के अध्यक्ष मनोज मोरारका सहित इस क्षेत्र से जुड़े अन्य संघों के प्रतिनिधि उपस्थित थे। उन्होेंने कहा कि जयपुर में यह पहला मौका होगा जब रसोई से जुड़ी वस्तुएं जिनमें राजस्थान के व्यंजन, साबुत व पिसे हुए मसालें, मौके पर ही मसाले पीस कर उपलब्ध कराने की व्यवस्था और परंपरागत से अध्यानुतन पात्र भी उपलब्ध कराए जाएंगे।

डॉ. पाठक ने बताया कि रसोई उत्सव में मसाले और खाद्य तेल की स्टॉलें भी होंगी वहीं बच्चों के लिए किड्स जोन भी बनाया जाएगा। रसोई उत्सव में प्रदेश के कोने-कोने की प्रतिनिधि संस्थाएं हिस्सा लेंगी। उन्होंने बताया कि राजस्थान के मसालों और व्यंजनों आदि को प्रमोट करने के उद्देश्य से रसोई उत्सव में निःशुल्क स्टॉल उपलब्ध कराई जा रही ह़ै वहीं प्रवेश भी निःशुल्क होगा। इसके साथ ही विभिन्न प्रतियोगिताओं के आयोजन को अंतिम रुप दिया जा रहा है।

बैठक में अजय गुप्ता व मनोज मोरारका सहित अन्य प्रतिनिधियों ने उद्योग विभाग की पहल की सराहना करते हुए कहा कि इस तरह की उत्सव व आयोजन नियमित रुप से किए जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि पर्यटन से जुड़ा होने से इस हाट का विकास और विस्तार किया जाना चाहिए। यह राजस्थान के हस्तशिल्प, खान-पान और दस्तकारों व शिल्पियों की प्रतिनिधि स्थान के रुप में विकसित ।

आयोजन समिति के सदस्य सचिव अतिरिक्त निदेशक श्री एसएस शाह और सहायक निदेशक प्रचार राजेन्द्र शर्मा ने रसोई उत्सव की तैयारियाें की जानकारी दी। इस अवसर पर जिला उद्योग अधिकारी त्रिलोक चंद व यूपीएस के सुनील चांदवाड़ भी उपस्थित थे।

कोई जवाब दें