Bribe-trap-case

जयपुर। टोल नाकों पर अवैध वसूली करने वाले पुलिस अफसरों पर एसीबी ने उनके घरों और कार्यालयों पर छापे मारे है। छापों में उनके यहां से बड़ी संख्या में चल-अचल सम्पत्ति के दस्तावेज मिले हैं। एसीबी टीम इन दस्तावेज की छानबीन कर रही है। एसीबी आईजी वी.के.सिंह के निर्देश पर पुलिस अफसरों पर सर्च आॅपरेशन किया गया है।

एसीबी को शिकायत मिली कि भरतपुर के रुपवास थाना क्षेत्र व अन्य के टोल-नाको पर अवैध खनन में लगे वाहनों से अवैध वसूली होती है। लम्बे समय से यह गोरखधंधा चल रहा है, जिससे सरकार को लाखों रुपए महीने की चपत लग रही है। इस गोरखधंधे में स्थानीय थाना पुलिस, खान विभाग और दूसरे विभाग के अफसर-कर्मचारी भी लिप्त है। अवैध वसूली के साथ टोल नाकों पर नकली रवन्ना पर्चियां छपवा कर भी चोरी हो रही थी।

इस सूचना के आधार पर एसीबी ने एक साथ रुपवास थानाधिकारी मुकेश कुमार मेघवाल व सिपाहियों के घरों पर सर्च आॅपरेशन चलाया। अजमेर में एसआई अर्पण चौधरी के घर भी छापा मारा गया। इन अफसरों पर अवैध वसूली में लिप्त होने की शिकायतें एसीबी को मिली हुई है। इन घरों से निवेश के दस्तावेज मिले है, िजनकी एसीबी टीम पडताल कर रही है। एसीबी की इस कार्रवाई से हडकम्प मच गया, वहीं अवैध खनन में लगे वाहन भी आज बंद रहे। टोल नाको पर भी एसीबी को काफी गड़बडी मिली है।

कोई जवाब दें