international-colored-jamstones-association-congress-2017-started-today-in-jaipur
international-colored-jamstones-association-congress-2017-started-today-in-jaipur

जयपुर। जैम एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट प्रमोषन काउंसिल (जीजेईपीसी) के चेयरमेन, प्रवीण शंकर पांड्या ने आज कहा कि कलर्ड जैमस्टोन्स के लिए आक्रामक जेनेरिक मार्केटिंग अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने डायमंड के अनुसार कलर्ड जैम्सटोन्स की मार्केटिंग पर भी ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि इसके लिए डायमंड के समान ही मार्केटिंग माॅडल अपनाया जाना चाहिए। उन्होंने उदाहरण दिया कि डायमंड के व्यापक प्रमोषन के लिए किस प्रकार से 200 मिलियन अमेरिकन डालर की राशि खर्च की गई थी। यदि अधिक नहीं तो कलर्ड जैम्स्टोन्स के व्यापक प्रचार-प्रसार पर भी इतनी ही राषि खर्च की जानी चाहिए.

पांड्या आज जयपुर के होटल फेयरमोंट में इंटरनेषनल कलर्ड जैम्स्टोन एसोसिएषन (आईसीए) कांग्रेस 2017 में सम्बोधित कर रहे थे। इस वर्ष आईसीए कांग्रेस में 25 देशों के 275 से अधिक सदस्य शामिल हुए हैं, जिनमें 100 भारतीय ज्वैलर्स भी शामिल हैं। पांड्या ने आगे कहा कि कलर्ड जैमस्टोन्स के खनन कार्यों के लिए बड़े पैमाने पर ढांचागत व्यवस्था की आवश्यकता है। कलर्ड जैमस्टोन्स के लिए खनन नीति भी आवष्यक है। जिस प्रकार सूरत में आधुनिक डायमंड फैसिलिटी लगाई गयी हैं, उसी प्रकार की फैसिलिटी कलर्ड जैमस्टोन्स के लिए भी होनी चाहिए। इनकी बिक्री के तरीकों में भी बदलाव होना चाहिए। जैम्स एवं ज्वैलरी के लिए भी विशेष रूप से ई-कॉमर्स प्लेटफाॅम्र्स की आवष्यकता है।

जीजेईपीसी के चेयरमेन ने आगे कहा कि इस उद्योग में सफलता के लिए ग्राहकों का विष्वास अत्यंत महत्वपूर्ण है। ग्राहकों को शिक्षित किया जाना और उन्हें प्रामाणिकता के साथ कलर्ड जैमस्टोन्स उपलब्ध कराया जाना चाहिए। इस पारम्परिक उद्योग की सीमाओं को तोड़ने तथा नई पीढ़ी को जानकारी देने के लिए विशिष्ट कार्यबल को इस उद्योग की षिल्पकारी, मानव व्यवहार तथा प्रबंधन के बारे में षिक्षित किया जाना चाहिए। उन्होंने सलाह दी कि जीएसटी जैसे करों से घबराने की जरूरत नहीं है बल्कि इसे स्वीकारना चाहिए। इस उद्योग में बहुत सारे कानूनों और नीतियों को अपनाते हुए व्यापारिक संचालन में पारदर्षिता लाई जा सकती है। यह दीर्घकाल में उद्योग को बढ़ावा देने में अत्यधिक मददगार होगा।
इस अवसर पर चेयरमेन ने आगामी 8 से 10 जनवरी तक जयपुर में आयोजित किए जाने वाले ‘इंडियाज रफ जैमस्टोन शो‘ की घोषणा भी की। इस शो में रफ जैम्स्टोन्स के अनेक मैन्यूफैक्चरर्स एवं विक्रेता भाग लेंगे।
इससे पूर्व आईसीए कांग्रेस 2017 के चेयरमेन, राजीव जैन ने सभी अतिथियों का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि यह अत्यंत गर्व की बात है कि जयपुर दूसरी बार आईसीए कांग्रेस की मेजबानी कर रहा है। जयपुर शहर भारत में जैम्स एवं ज्वैलरी का दूसरा सबसे महत्वपूर्ण निर्यातक केंद्र है और विदेशी पर्यटकों को इसकी बिक्री करने के संदर्भ में जयपुर नंबर 1 भी है। इस कांग्रेस के वक्ताओं द्वारा अंतरराष्ट्रीय व्यापार के परिदृश्य में नवीनतम और महत्वपूर्ण विकास पर प्रकाष डाला जायेगा। उन्होंने कहा कि इस प्रतिष्ठित आयोजन में दुनियाभर के बाजारों एवं रूझान को महसूस किया जा सकता है।

इंटरनेषनल कलर्ड जैमस्टोन एसोसिएषन (आईसीए) कांग्रेस 2017 के प्रथम दिन विभिन्न विषयों पर सत्र आयोजित किए गए, जिनमें जैमस्टोन माइनिंग एंड जैमस्टोन मैन्यूफैक्चरिंग; लार्ज स्केल जैमस्टोन माइनिंग एंड इट्स फ्यूचर (शॉन गिल्बर्टसन); द फ्यूचर आॅफ रूबी जैम माइनिंग एंड ट्रेंड्स (फेडेरिको बारलोकर); मास प्रोडक्षन आॅफ जैमस्टोन्स (निर्मल बरड़िया); हिस्ट्री आॅफ जैम एंड ज्वैलरी मैन्यूफैक्चरिंग इन जयपुर (सुधीर कासलीवाल); न्यू टेक्निक इन जैमस्टोन मैन्यूफैक्चरिंग (डेनिएल बेंजानो) प्रमुख सत्र थे।
इस अवसर पर ’आईसीए कांग्रेस कमेटी 2017’ के चेयरमेन के अतिरिक्त अन्य स्टीयरिंग मेेंबर्स भी उपस्थित थे, जिनमें आईसीए कांग्रेस के निदेशक, निर्मल बरड़िया; आईसीए कांग्रेस के निदेशक, विजय केडिया; आईसीए एम्बेसडर, मेहुल दुर्लभजी शामिल थे। इनके अतिरिक्त अजय काला, आलोक सोंखिया, अरुण गोखरू, धर्मेंद्र टांक, कमल कोठारी, महावीर शर्मा, सुधीर कासलीवाल और सुधीर कोठारी भी उपस्थित थे।

कोई जवाब दें