aatankavaadiyon

गाजीपुर। इन दिनों किसानों का मुद्दा देश में काफी छाया हुआ है और राजनीति पार्टियों का सोचना है कि उनके सहारे सत्ता की कुर्सी तक पहुंचा जा सकता है इसीलिए कांग्रेस ने तीन राज्यों में अपनी सरकार आने के बाद किसानों का कर्जा माफ करने का ऐलान किया। इसी तरह कुछ और राज्यों ने भी किसानों का कर्जा माफ किया। कांग्रेस की इस रणनीति को सम­ाते हुए अब भाजपा ने भी किसानों को लुभाने के लिए अपने तरकश से तीर निकालने शुरु कर दिए। मोदी की गाजीपुर में रैली में उनका सारा फोकस किसान कर्जमाफी पर ही रहा। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि कर्जमाफी के नाम पर कांग्रेस ने किसानों को सिर्फ लॉलीपाप दिया। उन्?होंने कहा कि देश की जनता के भविष्य को संवारने के लिए आपका चौकीदार दिन-रात एक कर रहा है, आप आशीर्वाद दें क्योंकि चौकीदार से कई चोरों की नींद उड़ी हुई है। पीएम मोदी ने कहा कि एक दिन ऐसा आएगा कि इन चोरों को सही जगह पहुंचाया जाएगा।

रैली के दौरान किसानों की कर्जमाफी के मुद्दे पर कांग्रेस को घेरते हुए कहा कि कर्नाटक में कांग्रेस पार्टी ने सारा लोन माफ करने के नाम पर लोगों से वोट लिए थे लेकिन कर्ज सिर्फ 800 लोगों का ही माफ किया गया। यही नहीं सरकार बनने के बाद कर्ज लेने वाले तमाम गरीब किसानों के पीछे पुलिस लगा दी गई, जिससे कि कर्ज का भुगतान करने के लिए उनपर दबाव बनाया जा सके। पीएम ने कहा कि तत्काल राजनीतिक लाभ के लिए फैसलों से देश की समस्या का समाधान नहीं होता। पीएम ने कहा कि 2009 चुनाव से पहले लॉलीपॉप देने वाले लोगों ने देश भर में कर्जमाफी का वादा किया था और इसी मुद्दे पर सरकार भी बनी। लेकिन चुनाव के बाद सरकार ने लोगों को भुला दिया। जिस समय कांग्रेस ने यह वादा किया, उस वक्त 6 लाख करोड़ का कुल कर्ज किसानों पर था और सरकार बनने के बाद किसानों की आंख में धूल झोंकते हुए सिर्फ 60 हजार करोड़ का कर्ज माफ किया गया। इतना ही नहीं, इन सभी लोगों में 35 लाख ऐसे लोगों की कर्जमाफी हो गई जो किसान थे ही नहीं। पीएम ने कहा कि इस कर्जमाफी का कोई प्रमाण पत्र लाखों किसानों को नहीं दिया गया, जिसके कारण इन किसानों को बाद में ब्याज समेत कर्ज के पैसे वापस करने पड़े और ऐसे किसान दोबारा कर्ज लेने के लायक नहीं रहे। ऐसे में आपसे अनुरोध है कि आप कांग्रेस की सरकारों से सतर्क रहें।

पीएम ने कहा कि कांग्रेस ने स्वामीनाथन कमीशन की सिफारिश को लागू नहीं किया, लेकिन अगर 11 साल पहले इन सिफारिशों को लागू किया जाता तो आज हमारे देश का किसान कर्जदार ही नहीं होता। मोदी ने कहा कि इस कमीशन की सिफारिश को बीजेपी ने लागू किया और किसानों को लागत से डेढ़ गुने मूल्य का समर्थन मूल्य दिया गया। ऐसे कई काम बीते चार साल में हुए हैं। पीएम ने कहा कि किसान की फसल से लेकर उद्योग के विकास के लिए सरकार कई काम कर रही है। साथ ही पूर्वांचल की कनेक्टिविटी को लेकर कई योजनाओं पर काम हो रहा है।

कोई जवाब दें