जयपुर। देश में बढ़ती असहिष्णुता धर्म जाति के नाम पर फसाद तथा अराजक भीड़ द्वारा हिंसा व हत्या की घटनाओं के विरोध में तथा शान्ति व सद्भाव के उद्देश्य से जारी यात्रा कारवां-ए-मोहब्बत आगामी 15 सितम्बर 2017 को दोपहर 1 बजे कुमारानन्द हॉल, हथरोई विधायकपुरी थाने के पास, जयपुर पहुचेगी। पूर्व आई.ए.एस. अफसर व लेखकहर्ष मंदर के नेतृत्व में निकाली जा रही यह कारवां-ए-मोहब्बत 4 सितम्बर, असम से झारखण्ड, कर्नाटका, दिल्ली, उतर प्रदेश, हरियाणा होती हुई यात्रा आज शाम 14 सितम्बर को अलवर पहुंचेगी और दिनांक 15 सितम्बर की सुबह बहरोड़ होती हुई जयपुर पहुचेंगी। 15 सितम्बर की शाम कारवां अजमेर जायेगा।

जयपुर में निम्न मुद्दे रहेंगे पहलू खान को न्याय को लेकर हाल ही में राजस्थान पुलिस, सी.आई.डी.सी.बी. द्वारा नामजद आरोपीयों को जांच के बाहर कर देने, जयपुर में पुलिस द्वारा रामगंज क्षेत्र में गोली चलाना, प्रतापगढ के जफर हुसैन के आरोपीयों की गिरफ्तारी की मांग, सीकर के नीम का थाना इलाके में हाल ही में दबंग जाति द्वारा आदिवासी किसान को पीट-पीट कर मार डालना, दलितों व महिलाओं को लेकर बंढते अत्याचार, राज्य जवाबदेही और न्याय के मुद्दे। 16 सितम्बर की सुबह नागौर जिले के डांगावास गांव में प्रेम व न्याय का पैगाम लेकर जायेगा। 16 सितम्बर को अजमेर में 12 बजे रैली व प्रेस कॉफ्रेंस कर के कादेडा / केकडी होते हुये भीलवाड़ा शाम को पहुचेगा। 17 सितम्बर की सुबह भीलवाडा से उदयपुर निकल कर दिन में उदयपुर में सामाजिक कार्यकतार्ओं के साथ संवाद कर के गुजरात के पाटन शहर के लिए निकलेगी। इस यात्रा में देश व राज्य के प्रमुख जन संगठन, बुद्धिजीवी व सामाजिक कार्यकर्ता शामिल हो रहे है। यह यात्रा राज्य में उन स्थानों पर जा रही हैं। जहॉ अल्पसंख्यकों, डायन के नाम पर महिलाओं, दलितो व किसानों के साथ अराजक भीड़ द्वारा हिंसा की गई हैं। ह्वकारवां-ए-मोहब्बतह्ल द्वारा जहां संभव हो पीड़ितों के परिजनों से मिलकर संवेदना व्यक्त की जाएगी तथा उनमें भारत की सौहार्द की संस्कृति में विश्वास रखने का हौसला पैदा किया जायेगा। यात्रा जयपुर में 15 सितम्बर 2017 को पहुचेगी तथा इस अवसर पर 15 सितम्बर को दोपहर 3.30 बजे से मीडिया के साथ प्रेस कॉफ्रेंस का आयोजन रखा गया जिसमें आपसे अनुरोध है कि जरूर पहुंचे।

हम हैं
भँवर मेघवंशी, कविता श्रीवास्तव, सवाई सिंह, निखिल डे, कोमल श्रीवास्तव, प्रेमकृष्ण शर्मा, भँवर लाल कुमावत-पप्पू, नेसार, हरकेश बुगालिया, नरेन्द्र शर्मा, मुकेश निर्वासित, मो. हसन, सुमित्रा चैपडा, संजय माधव, निशा सिध्धू, निशात हुसैन, तारा चन्द, सुमन देवठिया, रेणुका पामेचा, लाड़ कुमारी जैन, पी.एल. मीमरोठ, महेन्द्र चैधरी, मंजू लता, तारा अहुवालिया, इंदिरा पंचैली, विजय लक्ष्मी जोशी, कुसुम साईवाल, राशिद, डॉ. इकबाल, कपिल सिंह सांखला, बंसत हरियाणा, नारायण बारेठ, ममता जैटली, पारस बंजारा, अनन्त भटनागर, ब्रजमोहन, श्याम लाल,अश्वनी पालिवाल, डी.एल. त्रिपाठी, राधेह्णयाम सुक्लावास, कैलाश मीणा, रावता राम, गोपाल वर्मा, बाबु लाल व अन्य साथी।

कोई जवाब दें