kumbh

मथुरा । प्रयागराज के कुंभ को भव्य बनाने के लिए योगी सरकार इसकी भव्य ब्राडिंग में जुट गई है। इस आयोजन में पूरे देश के लोगों को न्यौता देने के लिए उप्र सरकार के 22 मंत्री अलग अलग राज्यों में गए हैं। इस कड़ी में उप्र के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा गुरुवार को जयपुर आए। उन्होंने प्रदेशवासियों को कुंभ आने का न्यौता दिया। उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा है कुंभ का आयोजन धार्मिक एवं आध्यात्मिक होते हुए भी अपनी विशिष्टता के कारण सामाजिक सद्भाव और समरसता के प्रसार का माध्यम रहा है। शर्मा ने गुरुवार को राज्यपाल कल्याण सिंह को निमंत्रण देने के बाद आयोजित प्रेस कान्फ्रेंस में कहा कि भारत में प्राचीन समय से कुंभ का आयोजन होता रहा है। अगले साल प्रयागराज में 15 जनवरी से चार मार्च के दौरान कुंभ का आयोजन होने जा रहा है। सीमित समय में करोड़ों लोगों को जोडने की जो विशिष्टता कुंभ में है वैसी व्यवस्था विश्व के किसी अन्य आयोजन में नहीं है। कुंभ में देश की प्रगति तथा तात्कालिक परिस्थितियों का समाज को मार्गदर्शन प्राप्त होता रहा है। महाकुंभ को यूनेस्को ने सांस्कृतिक धरोहर के रूप में मान्यता दी है। बीते दिनों 70 देशों के राजनयिकों ने कुंभ क्षेत्र का दौरा किया और इसे अद्भुत बताया था। हमारी कोशिश है कि कुंभ की तैयारी के साथ प्रयागराज के इंफ्रास्ट्रक्चर में भी सुधार हो जाए। हमने पूरे देश में छह लाख गांवों को आमंत्रित किया है। सीआईआई कुंभ में उप्र सरकार का सहयोगी है। सीआईआई राजस्थान के अध्यक्ष अनिल साबू ने इस मौके पर सीआईआई की और से कुंभ में किए गए इंतजामों की जानकारी दी।

13 करोड़ से ज्यादा श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद
मकर संक्रांति से चार मार्च महाशिवरात्रि तक चलने वाले कुंभ में इस बार देश-दुनिया से 13 करोड़ से अधिक श्रद्धालुओं व पर्यटकों के आने की उम्मीद है। पिछला कुंभ शहर 14 सेक्टरों में 1936 हेक्टेयर में बसा था। इस बार इसे 3200 हेक्टेयर और 20 सेक्टरों में बसाया जाएगा।

ये हैं स्नान की प्रमुख तिथियां
मकर संक्रांति – 15 जनवरी 2019
पौष पूर्णिमा – 21 जनवरी 2019
मौनी अमवस्या – 4 फरवरी 2019
बसंत पंचमी – 10 फरवरी 2019
माघ पूर्णिमा – 19 फरवरी 2019
महाशिवरात्रि – 4 मार्च 2019

कोई जवाब दें